No Widgets found in the Sidebar

महज 25 साल की वैशाली ने महिलाओं के लिए रोजगार के लिए कुछ ऐसे काम किये है की उनका नाम और कद काफी बढ़ गया है। वैशाली एक कुशल उद्यमी के रूप में सबके सामने आयी है जिन्होंने केले के डंठल (तना) से फाइबर (fiber made by banana stem)बनाए जाने की विधि पूरे बिहार में फैला दिया है। और अपने इस उद्योग के माधयम से बिहार की बहुत सी महिलाओ को रोजगार और कुशल उद्यमी बनने की प्रेरणा के साथ साथ प्रशिक्षण भी दे रही हैं। जिससे बिहार जो की काफी गरीब राज्य माना जाता है भारत देश का यहाँ की महिलाये इस क्षेत्र में काफी नाम कमा रहीं है।

बिहार के एक छोटे से शहर हाजीपुर की वैशाली ने कहा की उनको बचपन से ही यह पता था की उनका शहर केले के उत्पादन के लिए जाना जाता है और केले की फसल तैयार होने के बाद इसके डंठल कचरे में फेंक दिए जाते है। इसी लिए वैशाली ने अपनी पढाई पूरी कर (फैसन) गांव में ही केले के तने से फाइबर कैसे निकला जाये इसकी विधि के साथ साथ यहाँ की महिलाओं को प्रशिक्षित करने लगीं।

Surmayi Banana Extraction Project (सुरमयी बनाना एक्सट्रैक्शन प्रोजेक्ट):

वैशाली ने अपने ही शहर हाजीपुर में “सुरमयी बनाना एक्सट्रैक्शन प्रोजेक्ट” तैयार किया जिसके तहत ये यहाँ की सभी महिलाओं को यह प्रशिक्षणं दे रहीं है की कैसे नेचुरल प्रोडक्ट से फाइबर बनाया जाता है। इनके नेतृत्व में यहाँ की बहुत सी महिलाये रोजगार के साथ साथ बहुत कुछ और भी सीख रहीं हैं। इससे यहाँ की सभी महिलाओं को काफी प्रेरणा भी मिलती है कुछ नया और कुछ अपना करने के लिए।

banana tree fibre face mask

अगर शुरुआत की बात करें तो वैशाली ने इस काम को सिर्फ 30 महिलाओं के साथ शुरू किया था और आज इसमें समय के साथ साथ लोग जुड़ते जा रहे हैं और इस संगठन या फिर कह ले की इस प्रोजेक्ट को बड़ा करते जा रहे हैं। महिलाओं को प्रशिक्षण के साथ रोजगार उपलब्ध कराके वैशाली बहुत सी महिलाओं की रोल मॉडल बन गई हैं इतनी काम उम्र में ही। देश की बाकि के महिलाओं को भी इन कुछ शीख लेनी चाहिए।

खास बात यह हैं की यहाँ से बने हुए फाइबर को विदेश में एक्सपोर्ट करके अच्छा खासा मुनाफा भी कमा रहीं हैं वैशाली और उनकी टीम। इनके इस इनोवेशन से कई फायदे हुए हैं एक तो यहाँ की महिलाओं को अपने घर में रोजगार मिल गया हैं और दूसरा यह हैं की केले की फसल काटने के बाद कचरे का भी सदुपयोग हो जा रहा हैं।

Inspiring Story –

मशरूम गर्ल: दिव्या रावत मशरूम कि खेती से कर रही हैं 2 करोड़ का टर्नओवर

Also Read-

मोबाइल टावर से होने वाली बीमारिया कितनी घातक है ? टावर लगवाने के क्या है नियम ।

बिना डिग्री के मेडिकल स्टोर कैसे खोले/ How to open medical store in Hindi

How link aadhaar card to pan card | आधार को पैन से कैसे लिंक करें | ऑनलाइन तरीका